ALL State International Health
विदेशी जूठन में पलने वालों की साजिश में लोगों को नहीं आना चाहिए : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
December 29, 2019 • A.K.SINGH

 

• *मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के जुबिली इंटर कॉलेज में 180 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया*

• *मुख्यमंत्री योगी ने कहा - संपत्ति जलाने वालों को समाज पहचान ले, नकारात्मकता कभी किसी का उद्धार नहीं कर सकती*

• *सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की किसी को इजाजत नहीं, प्रदर्शनकारी ऐसा बिल्कुल न करें* 

• *नागरिकता कानून भारत की मानवता के प्रति वचनबद्धताओं को दोहराता है, शरण में आए हुए की रक्षा करने का आश्वासन भारतीय संस्कृति देती है*

• *शासन जन सहयोग से शिक्षा की उत्तम व्यवस्था करने का प्रयास करती है : योगी*

*गोरखपुर, 28 दिसंबर।* मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की इजाजत किसी को नहीं है। हिंसक प्रदर्शन में शामिल उपद्रवियों को चेतावनी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा है कि वह ऐसा बिल्कुल न करें। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि समाज के ये कौन नकारात्मक तत्व हैं जो उपद्रव कर रहे हैं। योगी ने सख्त लहजे में कहा कि ऐसे लोग अगर नहीं सुधरेंगे तो वहीं जाएंगे जहां उन्हें जाना है। योगी आदित्यनाथ ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जो विदेशी जूठन से पलते हैं ऐसे लोगों की साजिश में लोगों को नहीं आना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएए और एनआरसी के मसले में गुमराह न हो, न ही कोई प्रदर्शन करें।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को गोरखपुर के जुबिली इंटर कॉलेज में 180 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद सभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सरकार जिस पैसे से विकास के कार्य करती है, वह लोगों का पैसा होता है। जनता को बेहतर सुविधाएं देने के लिए सरकार काम करती है, लेकिन जब कुछ लोग गुमराह करने वाले तत्वों के हाथों का खिलौना बन जाते हैं तो पब्लिक प्रापर्टी को आग के हवाले कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि संपत्ति जलाने वालों को समाज पहचान ले।

मुख्यमंत्री योगी ने नागरिकता कानून को स्पष्ट करते हुए कहा कि पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में जो पीड़ित और प्रताड़ित लोग थे, जिन्होंने भारत के अंदर शरण ली थी, उन्हें नागरिकता देने का कानून है। इसमें किसी के घर का कुछ नहीं होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून भारत के मानवता के प्रति वचनबद्धताओं को दोहराता है। जो शरण में आए हुए की रक्षा करने का आश्वासन भारतीय संस्कृति देती है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने नागरिकता कानून के नाम पर लोगों को गुमराह करके आगजनी, तोड़फोड़ और सड़कों पर आकर उपद्रव करने का कुत्सित प्रयास किया है, लेकिन हम उनकी इस योजना को कभी सफल नहीं होने देंगे। इसके लिए सरकार ने तय किया कि जो भी उपद्रवी पब्लिक प्रॉपर्टी को आग लगा रहा है, इस प्रॉपर्टी की भरपाई भी उपद्रवी को ही करना पड़ेगा। यह कार्यवाही युद्ध स्तर पर प्रारंभ हुई है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि नकारात्मकता कभी किसी का उद्धार नहीं कर सकती, नकारात्मकता से किसी का भला नहीं होने वाला है। एक सकारात्मक सोच, विकास की सही सोच होनी चाहिए और हम इसी सोच के माध्यम से प्रत्येक नागरिक के जीवन में खुशहाली ला सकते हैं। अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए हम न केवल प्रत्येक नागरिक के जीवन में खुशहाली, सुख और समृद्धि ला सकते हैं। राष्ट्रीय जीवन में भी समृद्धि लाने और इन विकास कार्यों के माध्यम से भारत को दुनिया की महाशक्ति के रूप में स्थापित कर सकते हैं। यह एक अहम जिम्मेदारी है, जो सरकार के साथ साथ समाज के प्रत्येक जिम्मेदार नागरिक और प्रत्येक संस्था की जिम्मेदारी है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 2 फरवरी 2020 से अगले दो साल तक हर रविवार को उत्तर प्रदेश के सभी 4200 स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्वास्थ्य मेले लगेंगे। जहां सभी तरह की जांचें मुफ्त होंगी। दवा भी मिलेगी। जिला अस्पताल रेफर करने की जरूरत हुई तो एंबुलेंस भी रहेगी। योगी ने कहा कि वर्तमान समय में तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ राज्य के सभी व्यक्ति को मिल रही है। राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए भाजपा की सरकार संकल्पित है। 

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 1885 में जुबिली इंटर कॉलेज की स्थापना हुई थी। राजकीय इंटर कॉलेज में 4000 से अधिक बच्चे अध्ययन करते थें, लेकिन एक साथ उन 4000 बच्चों के बैठने की व्यवस्था नहीं थी। दो पाली में विद्यालय चलता था, अब शासन ने धनराशि देकर के भवन बना दिया है। अब एक ही पाली में पूरा इंटर कॉलेज चल पाएगा और अच्छी गुणवत्ता युक्त शिक्षा इस इंटर कॉलेज के बच्चों को मिल पाएगी। उन्होंने कहा कहा कि यह शिक्षण संस्थाएं केवल हमारे लिए सर्टिफिकेट अर्जित करने या डिग्री प्राप्त करने के माध्यम मात्र नहीं है, अपितु एक स्वास्थ्य प्रतिस्पर्धा के माध्यम से उस चुनौती का सामना करने के लिए अपने आपको तैयार करने का माध्यम है जो हमारे व्यक्तिगत, सामाजिक और राष्ट्रीय जीवन में कहीं ना कहीं प्रगति में बाधक बने हुए हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 25 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश के अंदर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी की स्मृति में अटल बिहारी वाजपयी मेडिकल यूनिवर्सिटी का शिलान्यास किया। प्रदेश के जितने भी हमारे मेडिकल संस्थान हैं, मेडिकल कालेज, इंटर कालेज, नर्सिंग और पैरामेडिकल के कालेज होंगे यह सब एक विश्वविद्यालय से जुड़ जाएंगे और इस विश्वविद्यालय से उनको जोड़ करके उनका एक टाइम टेबल बना पाएंगे। उन्हें एक सामान्य पाठ्यक्रम दे पाएंगे। प्रवेश और परीक्षाएं समय पर होंगी।