ALL State International Health
UP के ग्रीन और ऑरेंज जोन में शुरू होंगी गतिविधियां, अब 25 जिले कोरोना से मुक्त
April 29, 2020 • A.K.SINGH


*लखनऊ:*  कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण लगा लॉकडाउन तीन मई के बाद खुलेगा या नहीं, खुलेगा तो किस तरह से, यह निर्णय केंद्र सरकार का होगा, लेकिन उत्तर प्रदेश में ग्रीन और ऑरेंज जोन बनाकर गतिविधियां शुरू करने की तैयारी योगी सरकार कर रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए अधिकारियों को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं। यह भी दावा किया गया है कि अब यूपी के 25 जिले कोरोना से मुक्त हो गए हैं।
उत्तर प्रदेश में हॉटस्पॉट वाले जिलों के साथ ही अन्य क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण व लॉकडाउन की समीक्षा मंगलवार को लोकभवन में टीम-11 के अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की। अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि मुख्यमंत्री ने ग्रीन और ऑरेंज जोन में विभिन्न गतिविधियां शुरू करने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए हैं।
सीएम योगी ने यह भी कहा है कि तीन मई के बाद औद्योगिक इकाइयों को कैसे चलाया जाए, इस पर कार्ययोजना बनाएं। मास्क निर्माण के लिए महिला स्वयं सहायता समूहों का चयन करने के लिए कहा है। वहीं, सरकार ने दावा किया है कि प्रदेश के 25 जिले अब कोरोना से मुक्त हो चुके हैं। बैठक में वित्त एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह और मुख्य सचिव आरके तिवारी सहित सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
*पांच अतिरिक्त जिलों में विशेष नोडल अधिकारी*
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 18 जिलों में विशेष नोडल अधिकारियों की तैनाती की गई है। मंगलवार को हापुड़, वाराणसी, रामपुर, मुजफ्फरनगर और अलीगढ़ में भी पुलिस व प्रशासन के एक-एक वरिष्ठ अधिकारी की तैनाती का निर्देश दिया है।
*पीपीई किट को लेकर फैलाई जा रहीं तथ्यहीन बातें
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रयोग किए जाने वाले पीपीई किट को लेकर भ्रामक व तथ्यहीन बातें फैलाई जा रही हैं। कोविड केस आने पर पहले से मौजूद एस-1, एस-2 के लिए उपलब्ध पीपीई किट का प्रयोग शुरू किया गया था, जो 115 रुपये में अक्टूबर 2019 में खरीदी गई थीं। वह स्वास्थ्य कर्मियों को फौरी बचाव के लिए उपलब्ध कराई गईं। फिर जैसे ही कोविड के लिए मानक अनुसार पीपीई किट उपलब्ध होने लगीं तो एस-1, एस-2 की पीपीई किट वापस मंगा ली गईं। नई किट की कीमत 1100 रुपये से अधिक है। पीपीई किट के संबंध में भ्रामक व तथ्यहीन बातें किसने फैलाईं? इसकी जांच भी की जा रही है।
*यह हैै जोन व्यवस्था*
*रेड जोन:

इनमें वे जिले आते हैं जिनमें कोरोना संक्रमण के हॉटस्पॉट हैं और जिसमें इस महामारी के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसमें वे जिले भी आते हैं जिनमें कोरोना संक्रमण के दोगुने होने की रफ्तार चार दिनों से कम है।
*ऑरेंज जोन:

इसमें वे जिले आते हैं जिनमें पिछले 14 दिनों में कोरोना संक्रमण का कोई मामला न रिपोर्ट हुआ हो।
*ग्रीन जोन:

इसमें वे जिले आते हैं जिनमें कोरोना संक्रमण का अब तक कोई मामला न आया हो या पिछले 28 दिनों के दौरान कोरोना संक्रमण का कोई नया केस न आया हो।