ALL State International Health
शुरू हुआ चंद्र ग्रहण , कुंभ राशि सहित इन राशियों पर पड़ेगा सबसे ज्यादा असर
June 6, 2020 • A.K.SINGH

      ज्येष्ठी पूर्णिमा के दिन मांद्य चंद्र ग्रहण पड़ रहा है  ग्रहण के समय चन्द्रमा वृश्चिक राशि और ज्येष्ठा नक्षत्र में स्थित रहेगा। चंद्रमा केवल पृथ्वी की धूसर छाया होकर गुजरेगा। जिससे उसकी कान्तिमलिन हो जायेगी। उसका केवल 57 प्रतिशत भाग ही पृथ्वी की धूसर छाया के अन्दर आयेगा। यह ग्रहण यूरोप, अफ्रीका, दक्षिण एशिया और ऑस्ट्रेलिया में ही दृश्य रहेगा। इस चंद्र ग्रहणका स्पर्श काल 5 जून रात 11 बजकर 15 मिनट पर होगा। इसका मध्य काल रात 12 बजकर 50 पर होगा और इसका मोक्ष काल रात 2 बजकर 34 पर होगा। अतः इस ग्रहण का पर्वकाल 3 घंटे 18 मिनट का होगा, 

     ज्योतिषी राम चन्द्र सिंह के अनुसार सूतक 5 जून दोपहर 2 बजकर 15 पर शुरू हो जायेगा। चंद्र ग्रहणका सूतक ग्रहण प्रारम्भ होने के 9 घंटे पहले लग जाता है। इसलिए सूतक लगने पर घर में सभी पानी के बर्तन में, दूध में और दही में कुश या तुलसी की पत्ती या दूब धोकर डालनी चाहिए और ग्रहण समाप्त होने के बाद कुश या दूब को निकाल देना चाहिए। इसके अलावा ग्रहण के समय अन्य किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, ये भी हम आपको बतायेंगे।

आपकी जन्मपत्रिका में किस स्थान पर यह ग्रहण लगेगा। जानिए इस बारे में ज्योतिषी राम चन्द्र सिंह से। 

मेष राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके आठवें स्थान यानी गूढ संबंधों पर लगेगा।

वृष राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके सातवें स्थान यानि मार्केश को लगेगा

मिथुन राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके शत्रुओं पर लगेगा।

कर्क राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके पांचवें स्थान यानी संतान के घर मे लगेगा।

सिंह राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके चौथे स्थान यानी माता, भूमि, भवन और वाहन से संबंध रखता है।

कन्या राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके तीसरे स्थान यानी भाई-बहनों पर लगेगा।

तुला राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके धन स्थान पर लगेगा।  

वृश्चिक राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके पहले स्थान पर लगेगा और यह स्थान स्वयं का माना जाता है। अगले 15 दिन तक अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दीजिए । आपको किसी भी पेड़ की जड़ में जल चढ़ाना चाहिए। 

धनु राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके बारहवें स्थान पर लगेगा, यानि आपके खर्चों पर यह ग्रहण लगेगा। खर्च कम होंगे ।

मकर राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके ग्यारहवें स्थान पर लगेगा और ग्यारहवां स्थान आमदनी और कामना पूर्ति से संबंध रखता है।  

कुंभ राशि- यह चंद्र ग्रहणआपके दसवें यानि आपके पिता और करियर पर यह ग्रहण लगेगा।

 मीन राशि- यह चन्द्रग्रहणआपके नवें स्थान, यानि आपके भाग्य पर लगेगा।