ALL State International Health
सेना में भर्ती करानेवाला मुन्नाभाई गिरफ्तार
December 26, 2019 • A.K.SINGH

एस0टी0एफ0, उ0प्र0 काे आर्मी एवं उ0प्र0 पुलिस के विभिन्न पदों पर भर्ती कराने हेतु अभ्यर्थियों से धाेखाधड़ी करने के उद्देश्य से अनुचित लाभ कमाने वाले व अभ्यर्थियाें के फर्जी दस्तावेज तैयार करने वाले गिराेह के सदस्यों काे जनपद बुलन्दशहर से गिरफ्तार करने में उल्लेखनीय सफलता प्राप्त हुई। गिरफ्तार अभियुक्ताें का विवरण:-
प्रवीण कुमार भारद्वाज उर्फ राहुल पंडित उर्फ गोगा, पुत्र स्व0 हरीराज शर्मा, निवासी ग्राम मढ़ाहबीबपुर, थाना पिसावा, जनपद अलीगढ़ हाल निवासी यमुनापुरम माल के पीछे बुलन्दशहर। देवेन्द्र कुमार शर्मा पुत्र रामे शर्मा, निवासी ग्राम बुढ़सैनी थाना बालैनी, जनपद बागपत हाल निवासी 17 सरस्वती इन्कलैव-2 शिवपुरा रोड रोहटा मेरठ।  नवनीत अग्रवाल पुत्र राकेश अग्रवाल, निवासी ग्राम गा ेरई, थाना इगलाश, जनपद अलीगढ़।
एस0टी0एफ उत्तर प्रदेश एवं आर्मी इन्टेलीजेंस का े आर्मी एवं उ0प्र0 पुलिस में कतिपय
ला ेगा ें द्वारा अभ्यर्थियों काे धोखाधड़ी करके अनुचित लाभ कमाने के लिए भर्ती कराने के नाम से पैसा लेने, फर्जी काॅल लेटर, ज्वाइनिंग लेटर आदि प्रपत्र तैयार करने वाले एवं फर्जी अंगुल छाप तैयार कर आर्मी में भर्ती कराने वाले गिराेह के सक्रिय होने की सूचनायें प्राप्त हाे रही थीं। इस सम्बन्ध में श्री अभिताभ यश, पुलिस महानिरीक्षक, एस0टी0एफ0 उ0प्र0 लखनऊ के
निर्देशन में श्री राजीव नारायण मिश्र, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एस0टी0एफ0, उ0प्र0 लखनऊ एवं श्री कुलदीप नारायण, पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ मेरठ द्वारा एस0टी0एफ0 की विभिन्न इकाईयाें/टीमाें काे अभिसूचना संकलन एवं कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में श्री बृजेश कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक, एसटीएफ फील्ड यूनिट मेरठ के नेतृत्व में
एस0टी0एफ0 फील्ड इकाई, मेरठ में टीमें गठित कर अभिसूचना संकलन की कार्यवाही प्रारम्भ की गयी तथा अभिसूचना तन्त्र को सक्रिय किया गया।
अभिसूचना संकलन एवं विश्वस्त सूत्रा ें के माध्यम से एस0टी0एफ0 का े जानकारी प्राप्त हुई थी कि उ0प्र0 के विभिन्न जनपदों में प्रचलित आर्मी में विभिन्न पदों पर अभ्यर्थियों काे धोखाधड़ी करके अनुचित लाभ कमाने के लिए भर्ती कराने के नाम से पैसा लेने एवं अभ्यर्थियाें काे फर्जी मूल निवास प्रमाण पत्र, अंगुल छाप आदि तैयार कर अभ्यर्थियों काे भर्ती
कराने की एवज में चार-चार लाख रूपये लेने वाला गिरोह सक्रिय है, जो साजिश के तहत अभ्यर्थी जो आर्मी में नाैकरी की तलाश में है, काे अपने झा ंसे में लेकर आैर उनकाे यकिन दिलाकर कि उनकी आर्मी में अच्छी पहुॅच है से अनैतिक तरीके से मा ेटी रकम वसूल करते है।
इस सूचना पर एस0टी0एफ0 मेरठ टीम एवं आर्मी इन्टेलीजेंस द्वारा प्राप्त सूचनाआें काे और विकसित करते हुए स्थानीय पुलिस थाना का ेतवाली नगर जनपद बुलन्दशहर से समन्वय स्थापित कर भर्ती कराने वाले गिरा ेह के सक्रिय सदस्यों काे चिन्हित कर मुखबिर द्वारा बताये
गये स्थान पर पहॅुचकर अभियुक्ताें के आने-जाने वालें मार्गो पर टीमें तैयार चैकिंग प्रारम्भ की गयी। चैकिंग के दाैरान मुखबिर द्वारा भूड चा ैराहें की आ ेर से काले आम की तरफ आने वाली होण्डा अमेज गाड़ी का े देखकर पहचान कर बताया कि यह वही गाड़ी हैं जिसमें आर्मी व
पुलिस में भर्ती कराने वाले लाेग आ रहे हैं। इस पर विश्वास करते हुए एसटीएफ टीम उक्त अभियुक्ताें काे गिरफ्तार कर उपरा ेक्तानुसार बरामदगी की गयी हैं। गिरफ्तार अभियुक्त प्रवीण भारद्वाज उपरा ेक्त ने पूछताछ पर बताया कि वह सेना में भर्ती होने वाले युवको से सम्पर्क कर उन्हें आर्मी में भर्ती कराने की एवज में 3-4 लाख रूपये वसूल करता है यदि का ेई अभ्यर्थी आर्मी की रेस पास नहीं कर पाता है ताे उसकी जगह पर अन्य दूसरे युवक से दा ैड़ करायी जाती है, जिसकी एवज में हम अभ्यर्थी से 50 हजार रूपये
अतिरिक्त लेते हैं तथा यह पैसा अभ्यर्थी की जगह दौड़ने वाले युवक का े कुछ पैसा दे देते हैं।आर्मी भर्ती केन्द्रों पर अलग-अलग जनपदा ें की हा ेने वाली भर्ती में हम लाेग भर्ती बाेर्ड में मौजूद हमारे आदमी द्वारा एक एडेंस वाट्सएप्प के माध्यम से भेजा जाता है जिससे हम अभ्यर्थिया ें के उक्त पते के फर्जी मूल निवास प्रमाण-पत्र तैयार कराकर भर्ती केन्द्राें पर अभ्यर्थिया ें को भेजते है ं। हम लोग अभ्यार्थिया ें के भर्ती  होने के पश्चात सत्यापन हा ेने से पूर्व ही तैयार किये गये फर्जी मूल निवास प्रमाण पत्रों का े भर्ती केन्द्र में ही असली मूल निवास प्रमाण पत्रा ें से बदलवा देते है ं। यदि कोई अभ्यर्थी मेडिकल में अनफिट भी हो जाता हैं ता े हम उसे मिलिटंी हास्पिटल से फिट करा देते हैं। अभ्यर्थी की पुलिस वैरीफिकेशन से लेकर ज्वाॅनि ंग लेटर मिलने तक की जिम्मेदारी हमारे द्वारा ही ली जाती हैं।
गिरफ्तार अभियुक्त देवेन्द्र कुमार शर्मा उपरोक्त ने पूछताछ पर बताया कि मैं वर्ष 1988 में मेरठ से आर्मी में भर्ती हुआ था। भर्ती सेना में मैं पूच्छ जम्मू कश्मीर, देहरादून, आसाम,जालंधर, सियाचीन आदि जगहों में नियुक्त रहा है तथा जनवरी 2015 में जनपद मेरठ से सेवानिवृत्त हुआ है, वह काफी समय से प्रवीण भारद्वाज के सम्पर्क में है उसका कार्य भर्ती  हुए अभ्यर्थिया ें के फर्जी प्रमाण पत्रा ें का े मूल प्रमाण पत्रा ें में परिवर्तित कराना एवं मेडिकल में
अनफिट हुए अभ्यर्थियों का े फिट कराने का कार्य करता है।
गिरफ्तार तीसरे अभियुक्त नवनीत अग्रवाल उपरोक्त ने पूछताछ पर बताया कि कस्बा गौरई थाना इगलाश जनपद अलीगढ़ में उसकी कम्प्यूटर रिपेयरिंग व फाेटो स्टेट की दुकान हैं तथा वह छोटा मा ेटा नेट सम्बन्धी कार्य भी कर लेता है। प्रवीण भारद्वाज व सा ेनू चा ैधरी के कहन े पर वह अभ्यर्थियों के अंगुल छाप, एनसीसी प्रमाण पत्र, मूल निवास प्रमाण पत्र तैयार
कर उपलब्ध कराता है। एक अभ्यर्थी के अंगुल छाप तैयार करने में उसे 6 से 8 घण्टे का समय लगता है तैयार किये गये अंगुल छाप से वह मौके पर ही आधार कार्ड, मा ेबाईल फाेन काे अनलाॅक कर चेक करता है। वह अभ्यर्थियों से इस कार्य  के लिए का ेई पैसा नही लेता है।
बल्कि उक्त कार्य का पूरा पैमेण्ट उसे प्रवीण भारद्वाज व साेनू चाैधरी मास्टर द्वारा किया जाता है। वह एक अंगुल छाप तैयार करने का 10 हजार रूपये प्रवीण भारद्वाज व साेनू चाैधरी से लेता है। गिरफ्तार अभियुक्ताें द्वारा संयुक्त रूप से यह भी बताया कि आज उन्हे जनपदुलन्दशहर के काला आम चैराहे से कुछ अभ्यर्थियों काे लेकर आगरा में चल रही आर्मी भर्ती
केन्द्र पर सुबह पहुॅचना था। उनके द्वारा अभ्यर्थिया ें का े भर्ती कराने का कार्य विगत 4 वर्षो से किया जा रहा है। अब तक हम इस कार्य में करोडो रूपयें की कमाई कर चुके हैं।गिरफ्तार अभियुक्ता ें के विरूद्व थाना-कोतवाली नगर, जनपद बुलन्दशहर में मु0अ0सं0 1247/2019 धारा 420/467/ 468/471 भादवि पंजीकृत कराकर अग्रिम विधिक
कार्यवाही स्थानीय पुलिस द्वारा की जा रही है।