ALL State International Health
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में मिलेंगे 15 हजार रुपये! जल्द हो सकती है घोषणा
May 4, 2020 • A.K.SINGH

 

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का कहर थमता हुआ नजर नहीं आ रहा है। वायरस से बचाव के लिए देशभर में 3 मई तक का लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन का सबसे अधिक प्रभाव किसानों और दैनिक कामगारों पर पड़ रहा है। ऐसे में सरकार ने किसानों के लिए अनेक ऐसी योजनाएं चलाई है, जिससे अस्त व्यस्त पड़ी किसानों के जीवन को थोड़ा पटरी पर लाया जा सके। ऐसी ही एक प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना चलाई जा रही है।

*पीएम किसान सम्मान निधि योजना में यूपी अव्वल, पश्चिम बंगाल बना फिसड्डी*

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 6 हजार रुपये सालाना मिलता है। प्रत्येक वर्ष करोड़ो किसानों को 6 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। योजना के तहत कृषि क्षेत्र से जुड़े लोगों को सीधे नगद का लाभ दिया जाता है। किसान जरूरत पड़ने पर बिना किसी कर्ज के साथ अपनी खेती-बाड़ी संभाल सके, इसी उद्देश्य के साथ इस योजना की शुरूआत की गई है। इसके तहत किसानों हर 4 महीने में 2000-2000 रुपये की 3 किस्तों को मिलाकर कुल 6 हजार रुपये सलाना दी जाती है।
        पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी बनने के लिए किसानों को निम्न योग्यताओं की पूर्ति करनी होती है। इस योजना का लाभ उठाने वाले किसान के नाम पर खेती वाली भूमि होनी चाहिए, किसान का बैंक खाता और आधार कार्ड में एक नाम से एक जैसी स्पेलिंग में ही लिखा होना चाहिए।
इसके अलावा पिता का नाम, उम्र, पता इत्यादि बैंक डिटेल और आधार कार्ड में दी गई जानकारी से अलग नहीं होना चाहिए। किसान किसी भी तरह से आयकरदाता नहीं हो व उसकी कोई सरकारी नौकरी न हो, किसान इससे पहले किसी भी प्रकार का कोई पेंशन का लाभार्थी न हो। उपरोक्त बिंदुओं को पूरा करने वाले किसान ही लाभ ले सकते हैं।

*स्वामीनाथन ने राशि बढ़ाने की सिफारिश की*

स्वामीनाथन फाउंडेशन ने दावा किया है कि जो किसान इस योजना का लाभ ले रहे हैं उन्हें अभी तक कोई खास फायदा नहीं पहुंच रहा है। फाउंडेशन का मानना है कि किसान के सामने तमाम तरह की परेशानी आती है। उनमें से एक परेशानी कोरोना वायरस के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन भी है। इस लॉकडाउन में किसानों को काफी नुकसान हुआ है। 

*2 हजार से बढ़ाकर 5 हजार की जाए*

फाउंडेशन का मानना है कि लॉकडाउन में जो फसल खराब हुईं हैं उसका घाटा हुआ है, उसको पूरा करने के लिए चार माह में 2 हजार रुपये पर्याप्त नहीं है। इस घाटे को पूरा करने के लिए स्वामीनाथन फाउंडेशन ने सरकार से किसान निधि में दी जाने वाली राशि में इजाफे की सिफारिश की है। फाउंडेशन के मुताबिक चार माह में पीएम किसान सम्मान निधि योजना में दी जाने वाली राशि को बढ़ाकर 5 हजार की जाए। अगर सरकार स्वामीनाथन की बात मानती है तो किसानों को प्रत्येक वर्ष 15 हजार रुपये मिलने लगेगा। 

*मई तक आ सकती है अगली लिस्ट*

गौरतलब है कि कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय, पीएम किसान सम्मान निधि के तहत लाभ पाने वाले किसानों की सूची मई माह तक जारी कर देगा। वेबसाइट पर जाकर निम्न स्टेपों के जरिए सूची की जानकारी पा सकते हैं। 

*निम्न स्टेपों का पालन करके पूरी लिस्ट देखें*

वेबसाइट pmkisan.gov.in खोलें।
होम पेज पर मेन्यू बार देखें और यहां ‘फार्मर कार्नर’ क्लिक करें।
यहां ‘लाभार्थी सूची’ के लिंक पर जाएं।
इसके बाद पूछे गए राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव का विवरण दर्ज करें।
विवरण भरने के बाद Get Report पर क्लिक करें और पूरी जानकारी पाएं।