ALL State International Health
पीड़िता के घरवालों से मिले राहुल-प्रियंका, कहा- अन्‍याय के खिलाफ लड़ेंगे
October 4, 2020 • A.K.SINGH

हाथरस/ संवाददाता। पूर्व कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी 35 सांसदों के साथ यूपी की हाथरस पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए दिल्‍ली से निकल कर हाथरस पहुंच चुके हैं। प्रियंका गांधी और राहुल सहित पांच नेता सभी पीड़िता के घर पहुंच चुके हैं। यहां सुरक्षा व्‍यवस्‍था काफी कड़ी है। पीड़िता के परिवार से बंद कमरे में बातचीत हो रही है। इधर, डीएनडी पर जाम लगा हुुुुआ है। डीएनडी प्‍लाइओवर पर यूपी पुलिस की भारी मौजूदगी है। 

किन-किन नेताओं को मिली जाने की अनुमति

 

  1. राहुल गांधी
  2. प्रियंका गांधी
  3. अधीर रंजन चौधरी
  4. गुलाम नबी आजाद
  5. केसी वेणुगोपाल
  6.  
  7. इन पांच नेताओं के नाम तय किए गए हैं। ये सभी पांचों नेता हाथरस की पीड़िता के परिवार से मिलने जाएंगे। हालांकि अन्‍य कांग्रेसी कार्यकर्ता भी साथ जाने देने की मांग कर रहे हैं।
  8. डीएनडी पर राहुल और प्रियंका सहित सांसदों के काफिलों को यूपी पुलिस के द्वारा रोके जाने पर कांग्रेसी हंगामा करने लगे हैं। लगातार नारेबाजी कर रहे हैं। एडिशनल सीपी लव कुमार भी कांग्रेस नेताओं से बात करने की कोशिश कर रहे हैं। बता दें कि हंगामा-प्रदर्शन के कारण टोल प्‍लाजा से यमुना तक जाम लग गया है। मार्ग पर डायवर्जन करना पड़ा रहा है। लोग जाम से परेशान हो रहे हैं।
  9. नेताओं और कार्यकर्ताओं की मौजूदगी के कारण पुलिस ने बॉर्डर को छावनी में तब्‍दील कर दिया है। डीएनडी पर भीषण जाम लग गया है। नोएडा जोन के एसीपी और रणविजय सिंह को राहुल और प्रियंका गांधी के काफिले को वापस भेजने की जिम्मेदारी दी गई है। वह लगातार दोनों को समझ रहे हैं। बॉर्डर को पूरी तरह सील कर दिया गया है।
  10.  
  11. वहीं, राहुल और प्रियंका गांधी वाड्रा के हाथरस जाने के सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में डीएनडी पर कांग्रेस कार्यकर्ता जमा है। भीड़ इस कदर है कि कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है। वहीं, काफी देर से मरीज को लेकर जा रही एंबुलेंस भी फंसी हुई है।
  12. जाम में एक और एंबुलेंस फंस गई है। इससे पहले भी एक एंबुलेंस जाम में फंसी थी जिसे किसी तरह पुलिसवालों ने निकलवा कर भेज दिया था।
  13. इसके मद्देनजर नोएडा पुलिस का कहना है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश की सीमा में नहीं घुसने दिया जाएगा। इसके तहत डीएनडी पर ही नोएडा में प्रवेश करने से रोक दिया जाएगा।