ALL State International Health
नौबस्ता में ज्वैलरी शॉप में लूटकांड मे उन्नाव के गोविंद ने बनाया था प्लान, पुलिस ने मुठभेड़ में दबोचा
December 27, 2019 • A.K.SINGH


नौबस्ता में ज्वैलरी शॉप में लूटकांड के बाद पुलिस ने वारदात के मास्टर माइंड उन्नाव के शातिर बदमाश को हिरासत से भागने का प्रयास करने पर मुठभेड़ में दबोच लिया। उसने ज्वैलरी शॉप के पास स्थित एटीएम से पैसे निकालने के बहाने दुकान की रेकी की थी और फिर इटावा से साथियों को बुलाकर वारदात को अंजाम दिया था।बुधवार की रात करीब आठ बजे ज्वैलरी शॉप में अंगूठी खरीदने के बहाने आए पांच-छह बदमाशों ने सराफ करन गुप्ता को तमंचे के बल पर कब्जे में लेकर छह लाख कीमत के जेवर लूट लिए थे। इसी बीच भीड़ की मदद से करन ने तीन बदमाशों को पकड़कर पुलिस के हवाले किया था। जबकि दो बदमाश जेवरों से भरा डिब्बा, चांदी के बर्तन आदि लेकर भाग निकले थे। पूछताछ में गिरफ्तार बदमाशों ने अपना नाम उन्नाव अजगैन निवासी गोविंद दुबे उर्फ गुंडे, इटावा के बकेवर थाना अंतर्गत लखना मातनटोला महेश्वरी मोहल्ला निवासी राघवेंद्र शुक्ला व जय कुमार शुक्ला बताया था।गोविंदनगर सीओ आलोक सिंह ने बताया कि डकैती का मुकदमा दर्ज करने के बाद फरार बदमाश को पकडऩे के लिए गुरुवार सुबह चार बजे पुलिस गोविंद को लेकर डेढ़ पुलिया से केसा की ओर जा रही थी। इसी बीच गोविंद लघुशंका बहाना करके गाड़ी से उतरा और सिपाही की सरकारी पिस्टल छीनकर फायर करते हुए भागने लगा। पुलिस ने जवाबी फायङ्क्षरग की तो पैर में गोली लगने से गोविंद गिर पड़ा। उसके पास से सरकारी पिस्टल व मैगजीन बरामद कर ली गई।पुलिस के मुताबिक उन्नाव के अजगैन निवासी बदमाश गोविंद ने पूरा प्लान बनाया था। पुलिस को उसकी जेब से ज्वैलरी शॉप के बगल वाले एटीएम की पर्चियां मिली हैं। वह गोविंदनगर में ही किराये पर रहकर फैक्ट्री में नौकरी करता था। चार दिन से रोजाना रात आठ से 10 बजे के बीच वह 500 रुपये निकालने ज्वैलरी शॉप के पास स्थित एटीएम पर आता था। पकड़े गए इटावा के बकेवर निवासी जयकुमार और राघवेंद्र उसके पुराने साथी हैं। उनके साथ मिलकर गोविंद ने उन्नाव, लखनऊ और औरैया में चोरी की कई वारदात को अंजाम दिया था। जयकुमार के खिलाफ लखनऊ में चोरी का मुकदमा भी दर्ज है।नौबस्ता थाना प्रभारी आशीष शुक्ला ने बताया कि मुठभेड़ में पकड़े गए गोविंद दुबे उर्फ गुंडे के खिलाफ कानपुर, उन्नाव, इटावा व लखनऊ में बलवा, गैर इरादतन हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, अपहरण आदि धाराओं के करीब 18 मुकदमे दर्ज हैं। वह अजगैन का हिस्ट्रीशीटर अपराधी है। उसके साथी जयकुमार के खिलाफ भी लखनऊ में लूट, चोरी के मुकदमे दर्ज हैं।