ALL State International Health
नई ब्यवस्थाओ के तहत लखनऊ/नोएडा में आज से खुलेंगे सैलून 50-50 फॉर्मूले पर खुलेंगी दुकान
May 21, 2020 • A.K.SINGH

*

लॉकडाउन के चौथे चरण में कंटेनमेंट जोन छोड़कर बाकी इलाकों में छूट का दायरा बढ़ाया जा रहा है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश की राजधानी में आज से सैलून खुलेंगे तो नोएडा में सशर्त दुकानें खुलेंगी.


दुकान खोलने से पहले की जाती मार्किंग 

कोरोना संकट के कारण देश में 31 मई तक लॉकडाउन का चौथा चरण लागू है. हालांकि, इस दौरान जिंदगी को दोबारा पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है. कंटेनमेंट जोन छोड़कर बाकी इलाकों में छूट का दायरा बढ़ाया जा रहा है. इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश की राजधानी में आज से सैलून खुलेंगे तो नोएडा में सशर्त दुकानें खुलेंगी.
लखनऊ में करीब 2 महीने बाद आज सैलून खुलने की तैयारी है. वैसे तो उत्तर प्रदेश में 18 मई की रात को ही आदेश जारी करके सभी दुकानें खोलने की अनुमति दी जा चुकी थी, लेकिन लखनऊ के सैलून और पार्लर मालिकों लिए अलग से आदेश जारी किया गया कि 21 मई यानि आज से वो भी काम शुरू कर सकते हैं.
लिहाजा कल से ही नए तौर तरीकों के साथ ग्राहकों के स्वागत की तैयारियां शुरू कर दी गईं. सैलून के लिए कुछ खाास शर्तें रखी गई हैं. जैसे कि एक बार में एक ही शख्स सैलून के अंदर जा सकता है. सैलून मालिक को सभी ग्राहको के नाम और फोन नंबर का रिकॉर्ड रखना होगा और सैनिटाइजेशन का पूरा ध्यान रखना होगा.
वहीं नोएडा में भी जरूरी सामानों के अलावा बाकी दुकानें खोलने को लेकर असमंजस था. बुधवार को जिला प्रशासन ने व्यापारी संगठनों के साथ बैठक करके स्थिति साफ की, जिसके बाद आज से दुकानें खुल सकेंगी, लेकिन शर्तों के साथ. एक दिन बाजार की आधी दुकानें खुलेंगी. बाकी की आधी दुकानें दूसरे दिन खुलेंगी.
इसके अलावा एक दूसरे से सटी दुकानें अलग-अलग दिनों में खुलेंगी. दुकानदार और ग्राहकों को मास्क पहनना जरूरी है. सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का पालन जरूरी होगा. एक बार में दुकान पर 5 से ज्यादा ग्राहक नहीं हो सकते. दुकानदारों को दुकान बंद करके 7 बजे से पहले घर पहुंचना जरूरी होगा.
नोएडा प्रशासन ने घरेलू कामकाज करने वालों और ड्राइवरों को भी आज से काम करने वालों को अनुमति दे दी है. बशर्ते उनका आना जाना कंटेनमेंट जोन से न हो. आरडब्लूए को इस पर रोक लगाने का अधिकार नहीं है, लेकिन वो अपने नियम और शर्तें बनाने के लिए स्वतंत्र हैं.