ALL State International Health
एक्सप्रेस-वे और हाईवे पर सफर के दौरान पंक्चर गिरोह से रहें सावधान
February 2, 2020 • A.K.SINGH

एक्सप्रेस-वे और हाईवे पर सफर के दौरान पंक्चर गिरोह से रहें सावधान, पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

एक्सप्रेस-वे और हाईवे पर अपने वाहन से सफर करने के दौरान पंक्चर गिरोह से सावधान रहें। पुलिस ने जहां इस गिरोह की धरपकड़ के लिए प्लान बनाया है। आगरा के आईजी ए सतीश गणेश ने जहां एक्सप्रेस वे पर पड़ने वाले जिलों की पुलिस को दिशा निर्देश दिए हैं, वहीं लोगों के लिए एडवाइजरी जारी की है। इससे लोग इस गिरोह के चंगुल में न फंसें। पुलिस की मदद लेने में भी आसानी रहे। 
इस साल पांच और 22 जनवरी को मथुरा के नौहझील थाना क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस-वे पर लूट की घटनाएं हुईं। 27 जनवरी को एनएच-2 से कार में जा रहे परिवार को लूटा था। यह सभी घटनाएं टायर किलर को रोड पर डालकर की गईं। चार दिन पहले हरियाणा के पलवल में हाईवे पर भी ऐसी ही वारदात हुई। वहीं एक्सप्रेस-वे पर 24 अक्तूबर 2019 को कार पंक्चर कर लूट की घटना हुई थी।

एक्सप्रेस वे पर नोएडा से आगरा की ओर आने वाली लेन के बगल से एक रास्ता निकल रहा है। यह सर्विस रोड का काम करता है। पुलिस की प्राथमिक जांच में पता चला है कि गिरोह सर्विस रोड पर ही अपनी बाइक खड़ी करते हैं। इसके बाद दूसरी तरफ की लेन में जाकर टायर किलर को डालते हैं। जैसे ही टायर पंक्चर होता है गिरोह सक्रिय हो जाता है। 

एक कार के पंक्चर होने पर टायर किलर को हटा दिया जाता है, जिससे ज्यादा वाहन पंक्चर होकर न रुके। एक वाहन के रुकने पर एक साथ छह से आठ बदमाश कार को घेर लेते हैं। जिसे लूटना होता है, उसे एक्सप्रेस वे से नीचे ले जाते हैं। इस तरह से दो से तीन वाहनों को पंक्चर करके वारदात करते हैं। लोगों से मोबाइल और लैपटॉप भी छीन लिए जाते हैं। इनको घटनास्थल के आसपास ही फेंक दिया जाता है। इसके बाद बदमाश अंडरपास से उतरकर दूसरी तरफ भाग जाते हैं।

आगरा जोन के आईजी ए सतीश गणेश ने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि रात के समय एक्सप्रेस वे पर ज्यादा सतर्कता बरती जाए। खासकर अंडरपास के आसपास नजर रखें। सर्विस रोड पर भी पुलिस वाहनों की चेकिंग करे। पीड़ितों की लोकेशन मिलने पर तत्काल मदद करें।

यह करना चाहिए

- रात्रि के समय एक्सप्रेस के रास्ते महिलाओं और बच्चों को लाने से बचें।

- अपने परिजनों को गूगल मैप से लोकेशन शेयर करते रहें।

- एक्सप्रेस वे के माइल स्टोन को देखते रहे, जिससे वारदात होने पर पुलिस को कॉल करने पर बताया जा सके, इससे पुलिस आसानी से ढूंढ लेगी।

- कार पंक्चर होने पर बाहर न आएं। कार में ही बैठकर पुलिस का नंबर मिला दें।

- एक्सप्रेस वे पर संदिग्ध मिलने पर टोल पर पहुंचकर हेल्प लाइन नंबर पर कॉल करें।