ALL State International Health
चीनसीमा विवाद :UPA की सरकार होती, तो चीन को 15 मिनट में भगा देते-राहुल गांधी
October 7, 2020 • A.K.SINGH

चीन के साथ सीमा पर चल रहे गतिरोध को लेकर राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि अगर यूपीए सत्ता में होता तो पड़ोसी देश की हमारे देश की ओर आंख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं होती.

हरियाणा: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन के साथ सीमा पर चल रहे गतिरोध को लेकर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपने हमले तेज कर दिए है. उन्होंने कहा कि अगर यूपीए सत्ता में होता तो पड़ोसी देश की हमारे देश की ओर आंख उठाकर देखने की हिम्मत नहीं होती.

 

उन्होंने यह भी दावा किया कि ‘‘चीन के हमारे देश में घुसकर हमारे सैनिकों को मारने की हिम्मत इसलिए हुई क्योंकि मोदी ने देश को ‘‘कमजोर बना दिया है.’’ पूर्वी लद्दाख में करीब पांच महीने से जारी गतिरोध को लेकर केन्द्र सरकार पर कटाक्ष करते हुए गांधी ने कहा कि कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के शासनकाल में ‘‘चीन की हमारे देश की सीमा में घुसने की हिम्मत नहीं होती’’, अगर संप्रग सत्ता में होता तो ‘‘हमने चीन को वहां से कब का भगा दिया होता, इसमें 15 मिनट भी नहीं लगते.’’

 

पिछले 6 साल में सरकार की कोई भी नीति गरीबों, किसानों और मजदूरों के हित के लिए नहीं बनी- राहुल

 

अपनी ‘खेती बचाओ यात्रा’ के तहत पिहोवा से यहां अपने अंतिम पड़ाव पहुंचकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि पिछले छह साल में मोदी-नीत सरकार की कोई भी नीति गरीबों, किसानों और मजदूरों के हित के लिए नहीं बनी हैं. आज देर शाम अनाज मंडी में जनसभा में गांधी ने कहा, ‘‘मोदी ने कहा कि चीन भारत की सीमा में नहीं घुसा है. फिर हमारे 20 जवान कैसे मारे गए? उन्हें किसने मारा?’’

     उन्होंने कहा, ‘‘पूरी दुनिया में एकमात्र देश है भारत जिसकी जमीन को हड़प लिया गया है और वह स्वयं को देशभक्त बुलाते हैं. प्रधानमंत्री स्वयं को ‘देशभक्त’ कहते हैं और पूरा देश जानता है कि चीन की सेना हमारी सीमा के भीतर है, वह कैसे देशभक्त हैं?’’ उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार पूर्वी लद्दाख में चीन की सेना के भारतीय जमीन पर कब्जा किए जाने के कांग्रेस के दावों का पहले ‘‘शरारतपूर्ण व्याख्या’’ करार दे चुकी है. हमला जारी रखते हुए गांधी ने कहा, ‘‘चीन चार महीने पहले हमारी सीमा में घुसा, उन्हें बाहर फेंकने में कितना समय लगेगा. मुझे लगता है कि जबतक संप्रग सरकार नहीं बनेगी, चीन हमारी धरती पर कब्जा किए रहेगा, लेकिन जिस दिन हमारी सरकार बनी, हम उन्हें निकाल फेंकेंगे.’’

प्रधानमंत्री को देश, किसानों और मजदूरों की ताकत का अंदाजा नहीं है- राहुल

गांधी ने कहा, ‘‘हमारी सेना, वायुसेना उन्हें 100 किलोमीटर पीछे धकेल सकती है.’’ उन्होंने दावा किया कि प्रधानमंत्री को देश,  उसके किसानों और मजदूरों की ताकत का अंदाजा नहीं है और उन्हें सिर्फ अपनी छवि की चिंता है. गांधी ने कहा, ‘‘वह तस्वीरें लेते हैं और आपने देखा होगा खाली सुरंग की ओर उन्हें हाथ हिलाते हुए.’’ कांग्रेस नेता हाल ही में हिमाचल प्रदेश में अटल सुरंग के उद्घाटन समारोह के संदर्भ में बोल रहे थे.

केन्द्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ रविवार से कई जगह ट्रैक्टर चला चुके राहुल गांधी ट्रैक्टर से ही हरियाणा पहुंचे, जहां उन्होंने दो जनसभाओं को संबोधित किया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, कुमारी शैलजा, रणदीप सिंह सुरजेवाला, कुलदीप बिश्नोई, किरण चौधरी, अजय सिंह यादव और दीपेन्द्र सिंह हुड्डा हरियाणा में कार्यक्रमों के दौरान राहुल गांधी के साथ थे.

गांधी की ट्रैक्टर रैली हरियाणा में दो घंटे से ज्यादा देरी से शुरू हुई क्योंकि राज्य की सीमा पर हरियाणा प्रशासन ने पटियाला, पंजाब से आए कांग्रेस कार्यकर्ताओं को रोक दिया. हालांकि, गांधी और पार्टी के अन्य कई नेताओं को हरियाणा में प्रवेश की अनुमति दी गई.