ALL State International Health
CBSE का फैसला, नौवीं से 12वीं तक सभी छात्रों के लिए खुलेगा डिजिलॉकर अकाउंट
February 11, 2020 • A.K.SINGH

 

नई दिल्ली: CBSE Digilocker: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE - Central Board of Secondary Education) ने कक्षा  9वीं से 12वीं तक के सभी छात्र-छात्राओं के लिए डिजिलॉकर की सुविधा शुरू करने का फैसला किया है। सीबीएसई इन चार कक्षाओं के सभी विद्यार्थियों के लिए डिजिलॉकर अकाउंट खोलेगा। ये प्रक्रिया उनके संबंधित स्कूलों द्वारा पूरी की जाएगी।

अब तक सिर्फ कक्षा 10वीं और 12वीं बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए ही उपलब्ध हुआ करती थी। इस अकाउंट में संबंधित छात्रों के सिर्फ बोर्ड मार्कशीट ही रखे जा सकते थे। लेकिन अब सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के विद्यार्थी इस अकाउंट में अपने रजिस्ट्रेशन कार्ड की भी डिजिटल कॉपी सुरक्षित रख सकते हैं। 

बता दें कि किसी छात्र के रजिस्ट्रेशन कार्ड में उसका पूरा नाम, जन्मतिथि, चयनित विषय समेत अन्य कई जरूरी जानकारियां होती हैं। इसकी जरूरत आने बोर्ड परीक्षाओं में भी पड़ती है। इस कार्ड की मदद से सीबीएसई को भी बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में मदद मिलती है।

सीबीएसई ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर विद्यार्थियों के रजिस्ट्रेशन कार्ड 5 फरवरी 2020 को ही जारी कर दिया है। स्कूल इसे डाउनलोड कर सकते हैं। बोर्ड ने सलाह दी है कि अभिभावक और छात्र अपने रजिस्ट्रेशन कार्ड को अच्छी तरह से जांच लें। किसी तरह की गलती होने पर उसमें सुधार के लिए स्कूल के माध्यम से बोर्ड को आवेदन भेजें।

बोर्ड द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, 15 मई 2020 तक सभी विद्यार्थियों के लिए डिजिलॉकर अकाउंट शुरू कर दिए जाएंगे। इसके बाद विद्यार्थी अपना रजिस्ट्रेशन कार्ड उसमें अपलोड करके सुरक्षित रख सकते हैं।

क्या है डिजिलॉकर

यह इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत की गई पहल है। डिजिलॉकर लोगों को उनके सभी जरूरी दस्तावेज की डिजिटल कॉपियां ऑनलाइन अकाउंट में सुरक्षित रखने की सुविधा देता है। सूचना प्रौद्योगिकी के नियम 9ए के तहत डिजिलॉकर में रखे गए दस्तावेजों की सॉप्ट कॉपी भी ओरिजिनल मानी जाती है।