ALL State International Health
चकेरी के सैनिक नगर में पार्षद पत्नी के साथ पानी की टंकी के ऊपर चढ़े पूर्व पार्षद
February 12, 2020 • A.K.SINGH


चकेरी के सैनिक नगर में मंगलवार की दोपहर पानी टंकी के पास गुजर रहे लोगों के कदम ठिठक गए और मजमा लग गया। लोग टंकी के ऊपर पार्षद पत्नी के साथ चढ़े पूर्व पार्षद से नीचे उतरने की मिन्नत कर रहे थे। पार्षद कह रही थीं कि वह तबतक नीचे नहीं उतरेंगी जबतक समस्या का निदान नहीं हो जाएगा। इसकी जानकारी होने पर पुलिस और नगर निगम के लोग भी पहुंच गए। अफसरों ने पार्षद व उनके पति को समझाने का प्रयास किया तो दो घंटे बाद दोनों नीचे उतरे। चकेरी के वार्ड 26 अंतर्गत सैनिक नगर में दो माह से पेयजल और सीवर की समस्या बनी है। यहां पर विजयलक्ष्मी यादव निर्दलीय पार्षद हैं और उनके पति मनोज यादव पूर्व पार्षद रह चुके हैं। जनता बार बार पार्षद से समस्या का निदान कराने का गुहार लगा रही है। इसके चलते मंगलवार को पार्षद और उनके पति ने अनोखा विरोध प्रदर्शन किया। दोपहर बाद दंपती पानी टंकी पर पहुंच गए और देखते ही देखते सीढिय़ों से ऊपर जा पहुंचे। पार्षद व उनके पति को टंकी के ऊपर चढ़ा देखकर लोगों की भीड़ लग गई।लोग उनसे नीचे उतर आने के लिए कहने लगे तो उन्होंने अफसरों के आने और समस्या निदान न होने तक नीच न उतरने की बात कही। कुछ देर में स्थानीय पुलिस भी पहुंच गई और नगर निगम के लोग भी आ गए। दोनों पानी की टंकी के ऊपर से जलकल और नगर निगम के खिलाफ नारेबाजी की। करीब दो घंटे बाद अधिकारियों ने समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया तब दोनों नीचे उतरे।अहिरवां के सैनिक नगर के निवासी संतोष कुमार, विकास, आशा, नीलम आदि ने बताया कि इलाके में स्थित पानी की टंकी से सैनिक नगर, विराट नगर, अहिरवां और पटेल नगर में सप्लाई होती है। इलाके के लोगों ने बताया कि पिछले आठ माह से वाटर लाइन लीकेज होने से पानी की सप्लाई घरों में नही हो पाती है। जिससे लोगों को पानी के लिए इलाके में लगे सरकारी नल या समर्सिबल पंप से पानी भरना पड़ता है।पिछले 20 दिनों से टंकी की मोटर फुंक जाने से जलापूर्ति पूरी तरह से बंद है। इलाके में सीवर भराव की भी समस्या व्याप्त है। पार्षद विजय लक्ष्मी यादव ने बताया कि जलकल के अधिकारियों से शिकायत भी की लेकिन न तो मोटर की मरम्मत हुई और न ही लाइन को ठीक किया गया। अधिकारियों की अनदेखी से नाराज होकर अफसरों को समस्या बताने के लिए ऐसा प्रदर्शन करना पड़ा।