ALL State International Health
चाय पीने के तलब ने ली 24 की जान, चूने से लदे ट्रक पर सवार थे मजदूर
May 17, 2020 • A.K.SINGH

*औरैया-यूपी*चाय पीने के तलब ने ली 24 की जान, चूने से लदे ट्रक पर सवार थे मजदूर*

लॉकडाउन के बीच वापस घर लौट रहे कुछ मजदूर शनिवार की सुबह औरैया में भीषण दुर्घटना का शिकार हो गए। हादसा तब हुआ जब एक ट्राला पहले से खड़े डीसीएम ट्रक से टकरा गया। दुर्घटना में 24 मजदूरों की मौत हुई है।

 जबकि, 15 से अधिक गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों को सैफई मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। जिनकी मौत हुई उनमें कुछ राजस्थान से तो कुछ फरीदाबाद और गाजियाबाद से आ रहे थे। मृतकों में अधिकतर बिहार और गोरखपुर के रहने वाले लोग हैं। पुलिस टीम राहत और बचाव कार्य में जुटी है। ट्रक में लदे चूने मेे दबे मजदूरों को निकाल लिया गया है। सभी मृतकों के पहचान की कोशिश की जा रही है।

*टक्कर के बाद पलट गए दोनों वाहन*

घटना शहर कोतवाली क्षेत्र के मिहौली नेशनल हाईवे की है। हादसे के वक्त दिल्ली-कोलकाता हाईवे पर एक ढाबे के पास चाय पीने के लिए मजदूरों से भरी डीसीएम रुकी थी। 

*चरूहली गांव के पास पहले से खड़े मिनी ट्रक से टकराने के बाद डीसीएम और डाला दोनों खड्ड में पलट गए।*

 डीसीएम फरीदाबाद और गाजियाबाद से मजदूरों को लेकर सागर मध्य प्रदेश जा रहा था। जबकि, चूना लदा ट्रॉला राजस्थान से पश्चिम बंगाल के लिए चला था। इसमें करीब 70 मजदूर सवार थे। घटना के बाद मजदूरों के सामान इधर-उधर बिखरे हुए हैं। हर तरफ तबाही का मंजर है।
*सुबह 4 बजे की घटना*

औरैया के एसपी ने बताया कि घटना तकरीबन सुबह 3 बजे से 4 बजे के बीच की है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। कुछ घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जिनकी हालत गंभीर है उन्हें सैफई के लिए रिफर किया गया है। डीएम औरैया अभिषेक सिंह ने कहा है कि इनमें से ज्यादातर लोग बिहार, 
झारखंड और पश्चिम बंगाल के थे।

*पूरी रात ट्रक में काटने के बाद सुबह होने वाली थी।*

 लेकिन इसे मजदूरों की बदकिस्मती कहें या काल का कुचक्र, उन्हें सुबह का सूरज नहीं देखने को मिला। जिंदगी की अंगड़ाई, मौत की आहट को नहीं भांप सकी। काली रात ने चंद लमहों में सब कुछ तबाह कर दिया। 

*चश्मदीदों के मुताबिक दिल दहला देने वाला हादसा*

बताया जाता है कि फरीदाबाद और गाजियाबाद से चले मजदूर गोरखपुर जा रहे थे। औरैया के सीएमओ ने 23 लोगों की मौत की पुष्टि की है। डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि 15 लोगों को सैफई मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। जहां घायलों की हालत नाजुक बनी हुई है। एक मजदूर की मौत इलाज के दौरान हुई इस तरह मरने वालों की संख्या बढकऱ 24 हो गयी है।

*सीएम योगी ने घटना का लिया संज्ञान*

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया में घटित हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना को संज्ञान में लिया है। उन्होंने इस दुर्घटना में जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की है। इस बात की जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी।'

*इनकी हुई मौत*

हादसे में मरने वालों में राहुल पुत्र विभूति निवासी गोपालपुर थाना पिंडा जोरा झारखंड, नदकिशोर, कनी लाल पिंडा जोरा झारखंड, केदारी यादव पुत्र मुन्ना यादव निवासी बारा चट्टी बिहार, अर्जुन यादव, राजा गोस्वामी, मिलन निवासी पश्चिम बंगाल, गोवर्धन पुत्र गोरांगो, अजीत पुत्र अमित निवासी पशिम बंगाल, चन्दन राजभर, नकुल महतो, सत्येंद्र निवासी बिहार, गनेश निवासी पुरुलिया पश्चिम बंगाल, उत्तम, सुधीर निवासी गोपालपुर, डॉक्टर मेहती, मुकेश, सोमनाथ गोस्वामी आदि शामिल हैं।