ALL State International Health
भईया मेरे याद रखना, चाइनीज मंझे का बहिष्कार करना। चाइनीज मंझे का स्कूली छात्राओं ने किया विरोध
January 9, 2020 • A.K.SINGH


भईया मेरे याद रखना, चाइनीज मंझे का बहिष्कार करना। चाइनीज मंझे का स्कूली छात्राओं ने किया विरोध।
----------------------------------------------------------------
वाराणसी, 9 जनवरी, सामाजिक संस्था सुबह-ए- बनारस क्लब के बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, समाज सेविका डॉ० रितु गर्ग, श्री अग्रसेन कन्या पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज की प्राचार्या डॉ० कुमकुम मालवीय के नेतृत्व में लगातार लोगों का गला काटने के साथ पशु- पक्षियों की जान लेने पर आमादा एवं प्रत्येक साल विरोध करने के बावजूद बाजार में कातिल जानलेवा चाइनीज मंझे के बिक्री के खिलाफ मैदागिन स्थित श्री अग्रसेन कन्या पोस्टग्रेजुएट कॉलेज की छात्राओं ने आगामी पतंग के पर्व मकर संक्रांति को देखते हुए भईया मेरे याद रखना चाइनीज मंझे का बहिष्कार करना, आदि नारों के साथ एक स्वर में कालेज के परिसर में शपथ लिया कि हम शपथ लेते हैं की हम अपने-अपने भाइयों के साथ-साथ आस-पड़ोस के बच्चों को चाइनीज मंझे के दुष्परिणामों के बारे में जागृत करते हुए उन्हें कातिल चाइनीज मंझे से पतंग ना उड़ाने के लिए प्रेरित करते हुए उनमें जागरूकता लाएंगे। उपरोक्त अवसर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, समाज सेविका डॉ०रितु गर्ग, एवं कॉलेज की प्राचार्या डॉ० कुमकुम मालवीय ने कहा कि अदालती आदेश के बावजूद यहां पर चाइनीज मंझे की बिक्री धड़ल्ले से हो रही है।पिछले साल बहुत ज्यादा विरोध-प्रदर्शन के बाद एकाध बार छापे की कार्रवाई हुई थी। जिसमें प्रशासन को सफलता भी मिली थी। मगर इस बार कहानी ढाक के पात है।पतंग उड़ाने के दीवानों और बिक्री कर रहे दुकानदारों के आपसी सांमजस्य से इसकी बिक्री अभी भी लुका- छुपी बदस्तूर जारी है। श्री जायसवाल ने कहा कि संस्था का उद्देश्य किसी भी दुकानदार के रोजी रोटी या पेट पर लात मारने का नहीं है । बस मकसद यह है कि, जिस प्रकार से पूर्व में दुकानदार देशी मंझे को बेचकर बिना किसी को हानि पहुंचाए अपना कारोबार करते थे, उसी ढर्रे को वह पुनः अपनाकर इस कातिल चाइनीज मंझे को बाजार में बिक्री करने के लिए जनहित को देखते हुए ना मंगाए। ताकि लोगों को गंभीर रूप से इस जानलेवा चाइनीज मंझे का शिकार ना होना पड़े। अगर सभी दुकानदार इस खतरनाक चाइनीज मंझा को ना बेचने के लिए कटिबद्ध हो जाएंगे। तो बाजार से इसका अस्तित्व खत्म हो जाएगा। और वे अपने कारोबार को पूर्व की भांति बिना किसी रोक-टोक के सुचार रूप से चला सकेंगे। 
कार्यक्रम में मुख्य रूप से मुकेश जायसवाल, डॉ रितु गर्ग, डॉ कुमकुम मालवीय, महासचिव राजन सोनी, कोषाध्यक्ष नंदकुमार टोपी वाले, उपाध्यक्ष अनिल केसरी, उपाध्यक्ष चंद्र शेखर सिंह चौधरी, उपाध्यक्ष अमरेश जायसवाल, सचिव डॉ मनोज यादव, सहित कॉलेज की सैकड़ों छात्राएं उपस्थित थी।