ALL State International Health
अब तक 40 हजार परिषदीय बच्चों का आधार सत्यापन
July 21, 2020 • A.K.SINGH
आजमगढ़ परिषदीय व सहायता प्राप्त विद्यालयों में बच्चों की फर्जी संख्या पर अंकुश लगाने को लेकर शासन गंभीर है। आदेश के अनुपालन में जिले के परिषदीय विद्यालयों में पंजीकृत बच्चों का सत्यापन आधार कार्ड से शुरू हो गया है

 

शैलेन्द्र सिंह , आजमगढ़: परिषदीय व सहायता प्राप्त विद्यालयों में बच्चों की फर्जी संख्या पर अंकुश लगाने के लिए शासन गंभीर है। आदेश के अनुपालन में जिले के परिषदीय विद्यालयों में पंजीकृत बच्चों का सत्यापन आधार कार्ड से शुरू हो गया है। अब तक 40 हजार बच्चों के नाम आधार कार्ड के आधार पर प्रेरणा एप के माध्यम से एमडीएम पोर्टल पर फीड किया जा चुका है। हालांकि यह प्रक्रिया अभी 31 जुलाई तक चलेगी। जिले के परिषदीय विद्यालयों में लगभग 3.40 लाख बच्चे पंजीकृत हैं।

बच्चों की संख्या को लेकर फर्जीवाड़ा की आशंका हमेशा जताई जाती रही है। कई शहर की सीमाओं से सटे स्कूलों में संख्या बढ़ाकर नाम लिखे जाने का शिकायत मिलती रही है। एक ही बच्चा आसपास के कई स्कूलों में पंजीकृत कर लिया जाता है, क्योंकि पहले इसी के आधार पर ही शिक्षकों की संख्या निर्धारित होती थी। साथ ही ड्रेस, स्वेटर, जूता-मोजा, स्कूली बैग और किताबों आदि की खरीद की जाती है, लेकिन मध्याह्न भोजन की मॉनीटरिग काफी दिनों से आइवीआरएस के माध्यम से की जाती रही है। जब इसका मासिक और सालाना औसत निकाला जाता है तो यह पंजीकृत बच्चों की संख्या से काफी कम रहती है। शासनादेश के अनुपालन में खंड शिक्षा अधिकारियों व ब्लाक संसाधन केंद्रों के माध्यम से बच्चों का सत्यापन आधार कार्ड के आधार पर कराया जा रहा है। इसके लिए हर खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय में आधार किट खरीदी गई है। सभी बीईओ को मशीनें सक्रिय करने के निर्देश दिए गए हैं। ''शासन के निर्देशानुसार खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय के माध्यम से बच्चों की फीडिग आधार कार्ड के अनुसार की जा रही है। साइट धीमी होने के कारण थोड़ी परेशानी हो रही है लेकिन निर्धारित तिथि 31 जुलाई तक पूरा कर लिया जाएगा। संभावना जताई जा रही है कि अभी तिथि बढ़ेगी।