ALL State International Health
अब मोहब्बत रहे ,या अदावत रहे दर्मियाँ अपने कोई रवायत रहे-बलजीत सिंह बेनाम
August 14, 2020 • A.K.SINGH

ग़ज़ल

अब मोहब्बत रहे या अदावत रहे
दर्मियाँ अपने कोई रवायत रहे

ज़िन्दगी जीने को लाज़िमी है बहुत
ज़हन में हाँ ज़रा सी मुसीबत रहे

कुछ फ़सानों की साज़िश यही है फ़क़त
चंद हिस्सों में ज़ाहिर हक़ीक़त रहे

ख़ूँ पिला के जिगर का किया है जवां
जिन उसूलों को उनकी हिफाज़त रहे

सर कटे जाँ भी जाए बड़े शौक़ से
किसलिए ज़ालिमों की हिमायत रहे---बलजीत सिंह बेनाम
       
सम्पर्क सूत्र: 103/19 पुरानी कचहरी कॉलोनी, हाँसी
ज़िला हिसार(हरियाणा)
मोबाईल नंबर:9996266210