ALL State International Health
आईसीएमआर ने दूर किया भ्रम: गर्मी में भी नहीं कम होगी कोरोना की महामारी
April 16, 2020 • A.K.SINGH

 

देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में अब तक कोरोना से 12,759 लोग संक्रमित हुए हैं और 420 लोगों की मौत हुई हैं। कुछ लोगों का मानना है कि जैसे-जैसे तापमान में वृद्धि होगी कोरोना वायरस का प्रकोप खत्म होता जाएगा। वहीं, अब आईसीएमआर ने इस बात का खंडन किया है।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के मुख्य महामारी विज्ञानी डॉ रमन आर गंगाखेडकर ने बताया कि चीन ने 31 दिसंबर के बाद भारत को बताया कि कोरोना वायरस नामक एक बीमारी फैल रही है। इसके बाद देश में एहतियात के तौर पर कदम उठाए गए।
गंगाखेडकर ने बताया कि अभी तक इस वायरस ने गर्मी का पूरा मौसम नहीं देखा है, इसलिए गर्मी के मौसम में वायरस पर होने वाले प्रभाव को देखा जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में इस बात का कोई सबूत नहीं है कि यह बीमारी गर्मी के मौसम में खत्म हो जाएगी।
डॉ रमन ने कहा कि लोगों को मानना है कि गर्मी के मौसम में छींकने पर निकलने वाली छोटी बूंदें जल्दी सूख जाएंगी और इससे संक्रमण का खतरा कम हो जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर इस बात का कोई सबूत मिलता है तो हम इसकी जानकारी साझा करेंगे, लेकिन वर्तमान में कोरोना के गर्मी के मौसम में खत्म होने का कोई सबूत नहीं है।
*अब तक 2,90,401 लोगों की जांच की गई*

वहीं, गंगाखेडकर ने बताया कि अभी तक 2,90,401 लोगों की जांच की गई हैं, जिसमें से 30,043 ( आईसीएमआर की 176 लैब में 26,331 टेस्ट और 78 प्राइवेट लैब में 3,712 टेस्ट किए गए) टेस्ट कल किए गए थे।
*भारत में 24 लोगों की जांच करने पर एक पॉजिटिव मामला मिल रहा*

उन्होंने बताया कि जापान में औसतन 11.7 लोगों की जांच करने पर एक पॉजिटिव मामला मिल रहा है। इटली में यह संख्या औसतन 6.7, अमेरिका में औसतन 5.3, यूके में औसतन 3.4 हैं। जबकि भारत में हम 24 लोगों की जांच कर रहे हैं तब एक पॉजिटिव मामला सामने आ रहा है।