ALL State International Health
48 कोरोना मरीजों की मौत के बाद लखनऊ के 4 अस्पतालों को नोटिस, Covid-19 प्रोटोकॉल से हुआ खिलवाड़
September 26, 2020 • A.K.SINGH

लखनऊ: कोविड-19 प्रोटोकॉल के कथित उल्लंघन और हाल ही में कोविड-19 संक्रमण से 48 मरीजों की मौत के बाद लखनऊ के चार निजी अस्पतालों को बुधवार को नोटिस जारी किए गए। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। लखनऊ जिला प्रशासन के एक अधिकारी ने कहा, "कुछ अस्पतालों में ऐसे मामले सामने आये हैं जहां कोविड-19 प्रोटोकॉल (मरीजों का इलाज करने के लिए) का प्रथम दृष्टया पालन नहीं किया गया। जब मरीज रेफर होने के बाद कोविड अस्पताल ले जाये गये तो वहां उनकी मौत हो गई।" 

     अधिकारियों के अनुसार, महामारी रोग अधिनियम के तहत अस्पतालों को नोटिस जारी किया गया है और उन्हें इसका विवरण भेजना होगा। एक अधिकारी ने कहा, "गैर-कोविड ​​अस्पताल के लिए प्रोटोकॉल यह है कि यदि कोई मरीज गंभीर स्थिति में वहां पहुंचता है, तो उसे ‘होल्डिंग’ या ‘ट्रायल’ क्षेत्र में रखा जाना चाहिए और उपचार शुरू होना चाहिए। अन्यथा मरीज को किसी कोविड-19 अस्पताल स्थानांतरित किया जाना चाहिए।"

     बता दें कि उत्तर प्रदेश में मंगलवार से बुधवार तक कोविड-19 से 87 और लोगों की मौत हो गई तथा 5234 और लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बुधवार को बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कोविड-19 से 87 और लोगों की मौत हो गई। इसके साथ राज्य में इस संक्रमण से अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 5299 हो गई है।

     उन्होंने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 5234 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि की गई। इसी दौरान 6500 लोग इस संक्रमण से ठीक होकर डिस्चार्ज भी हुए। प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में अब तक कुल 3,02,689 लोग संक्रमण के बाद पूरी तरह ठीक हो चुके हैं। इस तरह अब रिकवरी का प्रतिशत 81.88 हो गया है।

     इस समय प्रदेश में कोविड-19 के 61,698 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में मंगलवार को नमूनों की जांच में नया प्रतिमान स्थापित किया गया। कल सबसे ज्यादा 1,65,565 नमूनों की जांच की गई। प्रदेश में अब तक 89,93,424 नमूनों की जांच की जा चुकी है।